Weekly Current Affairs Dailly Current Affairs

18 july 2022 current Affairs important question। 18 जुलाई 2022 करेंट अफेयर्स महत्वपूर्ण प्रश्न

इस पेज में 18 जुलाई 2022 करेंट अफेयर्स दिया गया है जो आने वाले सभी प्रतियोगिता परीक्षाओं की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है।

18 जुलाई 2022 करेंट अफेयर्स महत्वपूर्ण प्रश्न

 विश्व युवा कौशल दिवस 

 प्रतिवर्ष 15 जुलाई को दुनिया भर में विश्व युवा कौशल दिवस मनाया जाता है। 18 दिसंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सर्वसम्मति से श्रीलंका के नेतृत्व में एक प्रस्ताव अपनाया ।

• वैश्विक स्तर पर युवा कौशल विकास के महत्त्व CLA को उजागर करने के लिये श्रीलंका ने G77 (77 देशों का समूह) और चीन की सहायता से इस संकल्प की शुरुआत की थी। 

 ‘राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क 2022’

15 जुलाई, 2022 को केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भारत के शीर्ष कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की ‘राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग रैंकिंग (National Institutional Ranking Framework NIRF) जारी की है। इसमें समग्र (ओवरऑल) रूप से शीर्ष पाँच स्थान 2021 की तरह इस साल भी वही रहे है। इस रैंकिंग में IIT मद्रास शीर्ष पर है।

फ्रेमवर्क 2022′ रैंकिंग 2022 ओवरऑल

1. IIT मद्रास

2. IISC बेंगलुरू

3. IIT बॉम्बे

→ यूनिवर्सिटी 1. IISc बेंगलूरु

2. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (नई दिल्ली)

■ कॉलेज श्रेणी

1. मिरांडा हाउस (नई दिल्ली)

2. हिंदू कॉलेज (नई दिल्ली) 

■ इंजीनियरिंग श्रेणी

1. IIT मद्रास

2. IIT दिल्ली

→ मैनेजमेंट श्रेणी

1. IIM अहमदाबाद

2. IIM बंगलौर

→ मेडिकल श्रेणी

1. एम्स दिल्ली

2. PGIMER चंडीगढ़

● लॉ श्रेणी

1. National Law School of India University बंगलुरू 2. NLU (नई दिल्ली)

→ फार्मेसी श्रेणी

1. जामिया हमदर्द (नई दिल्ली)

● डेंटल श्रेणी

1. Saveetha Institute of Medical and Technical Sciences चेन्नई

आर्किटेक्चर श्रेणी

1. IIT रुड़की शोध (Research) श्रेणी

1. IISC बेंगलुरू

NIRF S.

इसे मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा सितंबर 2015 में शुरू किया गया था। इसके बाद अप्रैल 2016 में इंडिया रैंकिंग इस ढाँचे के •आधार पर जारी की गई।

• यह देशभर के संस्थानों को रैंक करने के लिए एक कार्यप्रणाली की रूपरेखा तैयार करता है। NIRF सरकार द्वारा देश में उच्च शिक्षा संस्थानों (HEIs) को रैक करने का पहला प्रयास है। इसकी शुरुआत से पूर्व HEls को आमतौर पर निजी संस्थाओं, विशेष रूप से समाचार पत्रिकाओं द्वारा रैक किया जाता था।l

ब्रिक्स श्रम और रोज़गार मंत्रियों की बैठक

→ ग्रीन जॉब्स

ब्रिक्स (BRICS)

ब्रिक्स दुनिया की

प्रमुख

● वर्ष 2001 में ब्रिटिश अर्थशास्त्री जिम ओ’नील ने ब्राज़ील, रूस, भारत और चीन की चार उभरती अर्थव्यवस्थाओं का वर्णन करने के लिये BRIC शब्द गढ़ा। 

अवध कौशल का निधन 

हाल ही में पद्मश्री विजेता प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता अवध कौशल का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 87 वर्ष के थे। वह रूरल लिटिगेशन एंड एंटाइटेलमेंट सेंटर (देहरादून, उत्तराखंड में स्थित ) नामक एनजीओ के संस्थापक थे।

● उन्हें मानवाधिकारों और पर्यावरण के संरक्षण के खिलाफ उनकी लड़ाई के लिए जाना जाता था। कौशल पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के पद्मश्री से 5 करीबी थे। वर्ष 1987 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया है।

● वर्ष 2003 में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के भीतर स्थानीय सामग्री के महत्व पर चर्चा पर पैनल की अध्यक्षता करने के लिए कौशल को संयुक्त राष्ट्र द्वारा जिनेवा में 

● कौशल को उस देश में गृहयुद्ध के बाद श्रीलंका ‘युद्ध अपराधों और लापता होने की जांच के में लिए अंतरराष्ट्रीय समिति के सदस्य के रूप में भी नामित किया गया था। 

बुंदेलखण्ड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन 

15 जुलाई, 2022 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उत्तर प्रदेश में जालौन जिले के कैथैरी गांव में बुंदेलखण्ड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करेंगे। चार लेन के 296 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेसवे के निर्माण पर लगभग 14,850 करोड रुपये की लागत आई है।

● बाद में इसे 6 लेन तक विस्तारित किया जा सकेगा। यह चित्रकूट जिले में भरतकूप के निकट गोंडा गांव के राष्ट्रीय राजमार्ग 35 से इटावा जिले के कुदरैल गांव तक जाता है।

• यह मार्ग 7 जिलों- चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया और इटावा से गुजरता है। सम्पर्क बढ़ाने के साथ-साथ बुंदेलखण्ड एक्सप्रेसवे आर्थिक विकास को भी बढ़ावा देगा। इससे स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर सृजित होंगे। एक्सप्रेसवे के निकट बांदा और जालौन जिलों में औद्योगिक गलियारा बनाने का काम शुरू हो चुका है। 

सरकार देश के विभिन्न भागों के बीच सम्पर्क बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी उद्देश्य से सड़क संपर्क में सुधार किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 29 फरवरी 2020 को बुंदेलखण्ड एक्सप्रेसवे के निर्माण की आधारशिला रखी थी। इसका निर्माणकार्य 28 महीनों में पूरा हुआ है।

क्रोएशिया की मुद्रा यूरो

अपनाए गए कानूनी कृत्यों में से एक यूरो और क्रोएशियाई कुना के बीच रूपांतरण दर 7.53450 कुना प्रति 61 पर निर्धारित है। लिथुआनिया 2015 में यूरो को अपनाने वाला अंतिम यूरोपीय संघ का सदस्य था, और बुल्गारिया यूरोज़ोन में शामिल होने की कतार में अगला है। बाल्कन देश ने 1 जनवरी, 2024 तक इसे अपनाने की अपनी इच्छा व्यक्त की है।

यूरोज़ोन

क्रोएशिया के बाद यूरोज़ोन में यूरोपीय संघ (EU) के 20 सदस्य शामिल हैं, जो यूरो को अपनी आधिकारिक मुद्रा के रूप में उपयोग करते हैं। यूरोपीय संघ के 7 सदस्य (बुल्गारिया, चेक गणराज्य, डेनमार्क, हंगरी, पोलैंड, रोमानिया और स्वीडन) यूरो का उपयोग नहीं करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.